दो लाइन हिंदी शायरी

रूठूँगा अगर तुजसे तो इस कदर रूठूँगा की ,,
ये तेरीे आँखे मेरी एक झलक को तरसेंगी !!

दोस्तों प्यार में रूठना मानना एक आम बात है मोहब्बत में ये छोटी छोटी नादानियाँ होती है और ये ऐसा ही चलता रहता है लेकिन कभी कभी ये बात इतनी महगी पड़ जाती है की दो प्यार करने वालो को जिन्दगी भर की सजा मिल जाती एक छोटी सी बात बहोत बड़े झगडा का कारण बन जाते है जिन्दगी भर एक दुसरे को ना देखने की कसम खा लेते है दो जिन्दगी ख़त्म हो जाती है.