तेरी जुल्फों की लड़

तेरी जुल्फों की लड़ आ मै सुलझा दू
अपनी मोहब्बत की बहो में तुझे उलझा लू
कितनी हसीन हैं शमा मौषम भी शराबी हैं,
अकेले हैं,आ मोहब्बत की जाम तुजे पिला दू .