तेरे दीदार के लिये आते हैं तेरी गलियों मे

तेरे दीदार के लिये आते हैं तेरी गलियों मे,
वरना आवारगी के लिये तो पूरा शहर पड़ा हैं॥