तन्हा रहने में भी एक मजा हैं

तन्हा रहने में भी एक मजा हैं,
गमों को सहना भी एक सजा हैं,
तुम टी चले गये हमे अलविदा कह कर,
मगर याद रख कल एक फिर,
एक नया सवेरा हैं॥