शरीफ भले हि दिखता हूँ

शरीफ भले हि दिखता हूँ पर,
मेरी सादगी पे मत जाना, बात अगर,
मेरी परिवार पे आई तो उखाड़ दूंगा.

यंहा शायर का कहना है की मेरी शरीफ़ी पे मत जाना, मेरा शक्ल सरीफ़ जैसा दिखाता है पर मै ऐसा नहीं हूँ, सामान्यतः ऐसा ही हूँ पर अगर बात ऐसी हो जाती है जिसमे मेरे किसी परिवार के सदस्य का हानी होता है, वहाँ मै चुप नहीं बैठूँगा।