Rahat Indori Shayari In Hindi {Famous Shayari}

Shayari Panda presenting Rahat Indori Shayari in Different Categories Like स्टेटस of Rahat Indori शायरी, दर्द भरी Rahat Indori शायरी, Shayari of Bewafa Rahat Indori and much more. You will be amaze here with the best collections of Rahat Indori Shayari In Hindi here.

Rahat Indori Shayari In Hindi

जुबां तो खोल, नज़र तो मिला , जवाब तो दे,
मै कितनी बार लूटा हूँ, मुझे 🧾 हिसाब तो दे,
तेरे बदन की लिखावट में है उतार-चढाव
मैं तुझको कैसे पढ़ूँगा, मुझे किताब तो दे।

shikayten to bahut hai shayari by rahat indori

शिकायत तो बहुत है ये जिंदगी, पर चुप इसीलिए हूँ क्यूंकि,
जो दुनिया तूने दी है, वो भी बहुतों को नसीब नहीं होती।

Yun To Har Phulon Pe - Shayari by Rahat Indori

यूं तो हर फूलों पे लिखा है की तोडो मत,
दिल मचलता है तो कहता है, “छोड़ो मत”।

थक गया हूँ तेरी नौकरी से जिंदगी,
मुनासिब होगा अगर, मेरा हिसाब कर दे ।

ऐसी सर्दी है की सूरज 🌞 की दुहाई मांगों,
जो हो परदेश में वो, किसी से राजाई मांगों।

सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहे,
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहें,
शाखों से टूट जाए वो पत्ते 🍂 नहीं हैं हम,
आंधी से कोई कह दे की औकात मे रहें।

Rahat Indori Shayari in Hindi- Khak Se badkar Koi Daulat Nahi

खाक से बड़कर कोई दौलत नहीं होती,
छोटी-मोटी बात पे हिजरत नहीं होती,
पहले दीप जले तो चर्चे होते थे,
अब शहर जले तो हैरत नहीं होती।

हौसले ज़िंदगी के देखते हैं,
चलिये कुछ रोज जी के देखते हैं,
नींद पिछली सदी की जख्मी है,
ख्वाब 👁️ अगली सदी के देखते हैं।

फूलों 💐 की दुकाने खोलो,
खुशबू का व्यापार करो।
इश्क खता हैं, तो ये खता
एक बार नहीं, सौ बार करो।

कभी दिमाग, कभी दिल, कभी नजर मे रहो,
ये सब तुम्हारे ही घर हैं, किसी भी घर मे रहो।

क्या करेगा वो समझकर की सियासत क्या है,
जिसने ये जान लिया है, की मोहब्बत क्या है।

किसी को खोकर भी,
सिर्फ उसी को चाहते रहना,
हर किसी के बस की बात नहीं।

Rahat Indori Sher

rahat indori sher

तेरी कुछ बात ही अलग है,
वरना मै अपने आप से भी
कम ही मिलता हूँ।

छु गया जब कभी खयाल तेरा,
दिल मेरा देर तक धड़कता राहा,
कल तेरा जिक्र छिड़ गया था घर में,
और घर देर तक महकता राहा।

एक-एक हर्फ़ का अंदाज बदल रखा है,
आज से मैंने तेरा नाम ग़ज़ल रखा है,
मैंने शाहों की मोहब्बात का भरम तोड़ दिया,
मेरे कमरे में भी एक ताजमहल 🛕 रखा है।

उसकी याद आई है, साँसों जरा आहिस्ता चलो,
धड़कनों से भी इबादत में खलल पड़ता है।

हर नज़र को तू नजर आये, ऐसा इत्तेफाक कर दे।
सबके अंदर मैं तुझको देखूँ, मेरी निगाह पाक कर दे ।

rahat indori quotes

झुकने से रिश्ता गहरा हो तो झुक जावो,
पर हर बार आपको ही झुकना पड़े, “तो रुक जावो”।

समुंदरों के सफर में हवा चलता है,
जहाज खुद नहीं चलते, खुदा चलाता है।

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं,
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं,
ये कैचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी,
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते 💸 हैं.

राह के पत्थर से बढ़के, कुछ नहीं है मंजिले
रास्ते आवाज देते हैं, सफर जारी रखो।

दिलों मे आग लबों पर गुलाब रखते हैं,
सब अपने चेहरों पे दोहरी नकाब रखते हैं।

आँखों मे पानी रखो,
होंठों पे चिंगारी रखो,
जिंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो ।

Rahat Indori Quotes

rahat indori best shayari

जब लगे पैसे कमाने तो समझ आया,
सुख तो मा-बाप के पैसों से पूरे होते है,
अपने पैसों से तो, जरूरत पूरी होती है।

एक ही नदी के हैं ये दो किनारे दोस्तों,
दोस्ताना ज़िंदगी से, मौत से यारी रखो।

बादशाहों से भी फेके हुये सिक्के ना लिए हमने,
खैरात भी मांगी है तो खुद्दारी से।

अफवाह थी मेरी तबीयत खराब है,
लोगों ने पूछ-पूछ के बीमार कर दिया,
दो ग़ज़ सही मगर ये मेरी मिलकीयत है,
ये मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया।

मैंने दिल देकर उससे की थी वफ़ा की इब्तिदा,
उसने धोका देके ये किस्सा मुक्कमल कर दिया।
शहर में चर्चा है आखिर ऐसी लड़की 💃कौन है,
जिसने अछे-खासे एक शहर को पागल कर दिया।

हाँथ खाली है तेरे शहर से जाते-जाते,
जान होती तो मेरी जान, लुटाते जाते,
अब तो हर हाँथ ✋ का पत्थर हमें पहचानता है,
उम्र गुजारी है तेरे शहर में आते-जाते।

famous shayari in hindi

बस यही दो मसलें, ज़िंदगी भर ना हल हुये,
ना नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुक़ामल हुये।

मुंतजिर हूँ कि सितारों की जरा आँख लगे,
चाँद 🌙 को छत पर बुला लूँगा इशारा करके।

यहीं ईमान लिखते हैं, यहीं ईमान पढ़ते हैं,
हमें कुछ और मत पढ़वाओ, हम कुरान पढ़ते हैं।
यहीं के सारे मंजर है, यहीं के सारे मौसम ⛅ हैं,
वो अंधे हैं, जो इन आँखों में पाकिस्तान ☪️ पढ़ते हैं।

बहुत गुरूर है दरिया को अपने होने पर,
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएं।

अब हम मकान मे ताला 🔒 लगाने वाले हैं,
पता चला है की मेहमान आने वाले हैं।

बनके एक हादसा बाजार में आ जायेगा,
जो नहीं होगा वो अखबार में आ जायेगा,
चोर उचक्कों की करो कद्र, की मालूम नहीं,
कौन, कब, कौन सी सरकार मे आा जायेगा।

Rahat Indori Best Shayari

sher shayari by rahat indori

राज जो कुछ हो इशारों मे बता भी देना,
हाँथ जब उससे मिलावो, दबा भी देना।

ख्याल था की ये पथराव रोक दें चल कर,
जो होश आया तो देखा लहू-लहू हम थे।

मंदिर मे फूल चढ़ा कर आए तो ये एहसास हुआ की,
पत्थरों को मनाने मे फूलों 🌼 का क़तल कर आए हम,
गये थे अपने पाप मिटाने, वहाँ एक और पाप कर आए हैं।

लौट आता हूँ वापस घर की तरफ, हर रोज थका-हारा।
आजतक समझ नहीं आया की जीने के लिए काम 🛠️ करता हूँ,
या काम करने के लिए जीता हूँ।

कत्ल करने की खुली छूट है अब भी,
लेकिन प्यार मत करना, यहाँ प्यार पे पाबंदी है।

लोग हर मोड पे रुक रुक के संभलते क्यूँ है,
इतना डरते है तो फिर घर से निकलते क्यूँ है।

वक्त ने काहा-“काश थोड़ा और सबर होता”,
सबर ने कहा- “काश थोड़ा और वक्त होता”।

Famous Shayari in Hindi

आगे सफर था, और पीछे हमसफर था,
रुकते तो सफर छूट जाता, और चलते 🏃‍♂️ तो हमसफर छूट जाता।

आते-जाते हैं कई रंग मेरे चेहरे पर,
लोग लेते हैं मज़ा जिक्र तुम्हारा करके।

नये किरदार आते जा रहे हैं,
मगर नाटक पुराना चल राहा है।

खामोशीयां बोल देती है,
जिनकी बातें नहीं होती,
इश्क वो भी करते हैं,
जिनकी मुलाकात नहीं होती।

अगर मै गलत, तो तू भी सही नहीं,
हारा मैं इश्क में, तो जीता तू भी नहीं।

सारी फितरत तो नकाबों में छुपा रखी थी,
सिर्फ तस्वीर उजाले में लगा राखी थी,
मेरी गर्दन पे तलवार थी दुश्मन की
मेरी बांजुवों पे मेरी माँ की दुवाएं राखी थी।

सुना है आज उदास बैठे हो,
कहो तो खेलने के लिए दिल भेज दूँ।

घर के बाहर ढूंढता रहता हूँ दुनिया,
घर के अंदर दुनिया-दारी रहती है।

About Rahat Indori

Rahat Qureshi was born on 01st January of 1950 in Indore, Madhya Pradesh. He later known as Rahat Indori because he belongs to Indore City, MP.

Rahat Indori Completed his schooling from Nutan School , Indore City and Graduates from Islamia Kaarimia College, Indore. He passed M.A.(Master of Art) with Gold Medal from Barkatullah University, Bhopal MP. In 1985 adn he awarded with PhD in Urdu Literature from the Bhoj University, Madhya Pradesh. His thesis titled Urdu Main Mushaira.

His couplets was viral in social media such as in facebook, whatsapp, twitter & instagram in year 2020. This couplets was “Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi” and “Kisi Ke Baap Ka Hindustan Thodi Hai”. He was a king of Hindi Shayari, Ghazals & Urdu Peotry.

His incomparable contribution on following film’s :- Main Tera Aashiq, Janam, Khuddar, Naraaz, Yaraana, Hamesha, Murder, Munna Bhai M.B.B.S., Mission Kashmir, Meenaxi, Kareeb, Ishq, Begum Jaan, Ghatak song’s are evergreen.

He diagnosed with covid-19 on 10th August 2020 but he died of cardiac arrest on 11th August 2020 in Aurobindo Hospital in Indore, Madhya Pradesh.

You may find here awesome collections of rahat indori shayari In Hindi. You will be delighted with famous shayari by Rahat Indori. Download shayari image of rahat indori sher & rahat indori quotes.