पापा की हो डांट या प्यार

पापा की हो डांट या प्यार में दिल टूटा हो,
पैसे की हो तंगी या अपना कोई छूटा हो,
हर दुख से हँस कर मुझे निकाल लेते हैं,
गिरने से मुझको अब डर नहीं लगता,
मालूम है की मेरे दोस्त, संभाल लेते है।