मुझे हर पल तेरा इंतज़ार

मुझे हर पल तेरा इंतज़ार रहता है,
हर लम्हा मुझे तेरा एहसास रहता है,
तुझ बिन धडकनें रुक सी जाती हैं,
कि तू दिल में धड़कन बनके रहता है।

जब भी हम इंतिजार शब्द सुनते है तो ,मुहं से निकलता अरे यार ,जब हम किसी गैर आदमी के इन्तेजार में इतना परीशान होते है तो सोचो ,कही हम पाने प्यार का इंतजार कर रहे है तो कैसा ,दोस्तों आपके जिन्दगी में भी ऐसा समय जरुर आयेगा होगा जब किसी का इन्जार किये हो ,तो दोस्तों मै यही बताने की कोशिश कर रहा हु ,जब एक आशिक अपनी प्रेमिका का इंतजार करता है ती कैसा लगता है ,कैसी बेचैनी होती है ,इस पंक्ति में एक आशिक अपनी dil की बात बतता है ,मोहब्बत एक ऐसा फिलिंग है अगर आपकी प्रेमिका ,आपसे मिलकर ,गयी २मिनत हुयी हो तो ऐसा लगता है ,5 मिनत के लिए आई थी ,चाहे वो आपके साथ २घन्ते हि क्यों ना बित्ताये क्यों की ,जब हम अपने प्रेमिका के साथ हो तो समय का पता नहीं चलता लेकिन ,जब अपनी प्रेमिका का इंतजार करते है तो ५मिनत भी ५घन्ता लगता है ,और एक आशिक को हर दम यही लगता की उसकी प्रेमिका यही कही है ,वो मुझे देख रही इस तरह के ख्याल आते है ,दोस्तों अगर आपने भी कभी किसी से प्यार किया हो ,एक ना एक दिन आपके साथ भी हुआ हि होगा ,जब आप किसी कम में फसे हो क्या अचानक से लगता है की वो यही कही है ,आपके साथ भी कभी ना कभी ऐसा हुआ मेरे दोस्त की हम उनको याद करते करत्ते अचनक से दिल की धड़कन बड गयी हो और आप अपने प्यार को याद करते करते आँखों से आशुं आ गये हो ,दोस्तों प्यार एक ऐसा दर्द है जो मीठा भी हॉट है ,और प्यार की नफरत की आशुं रुलाती भी है .