मौसम की मिशाल दु या तुम्हारी

मौसम की मिशाल दु या तुम्हारी,
कोई पुछ बैठा हैं बदलना किसको हैं।