क्या सोचा था की कॉल नहीं आएगा

क्या सोचा था की कॉल नहीं आएगा,
सोचा होगा के एक दोस्त यूँही भूल जाएगा,
ये तो आदत है हमारी सताने की वरना,
आपसा प्यारा दोस्त कौन भुलाना चाहेगा।