कभी कभी किसी अपने की

kbhi kbhi kisi apne ki

कभी कभी किसी अपने की इतनी याद आती हैं,
कि रोने के लिए रात भी कम पड़ जाती हैं.

दोस्तों मोहब्बत और प्यार की रिस्तो से हम ऐसे बन्दे है ,की इन रिस्तो के बिना हम रह हि नहीं सकते ,इन्हें रिस्तो के नाते हम एक दुसरे से बन्दे रहते है ,लेकिन जब हमें किसी से प्यार हो जाता है ,तो ये रिश्ता ना जाने किस तरह के प्यार में बाँध देते है ना ,तो एक दुसरे के बिना रह नहीं सकते है ,जब कोई कुछ पल ले लिए अलग हो जाते तो एक दुसरे के यादों में रोते है ,ये मोहब्बत की तड़प अजीब होती है ,एक पल की जुदाई सह नहीं जाता ,उसकी छोटी नटखट बाते याद आ कर ,हमें सताती रहती है ,और हमें रुलाती रहती है ,जब दो दोनों साथ में रहते है ,ना तो छोटी छोटी में झगडा करते रहेगे लेकिन मोहब्बत की तड़प अजीब होते है .

Trending Shayari

#Love Shayari

आँखों मे ख्वाब दिया करते हैं, हम सबकी नींद चुरा लिया करते हैं, अब से जब-जब आपकी पलकें झुकेंगी, समझ लेना हम अपको याद किया करते हैं।

#Sad Shayari

सदीयो से जागी आँखो को, एक बार सुलाने आ जाओ, माना की तुमको प्यार नहीं, नफरत ही जताने आ जाओ जिस मोड पे हमको छोङ गये, हम बैठे अब तक सोच रहे क्या भुल हुई क्यों जुदा हुए, बस यह समझाने आ जाओ!

#Narazgi Shayari

ऐसी नाराजगी हमसे की हम मना ना सके, बस गयी मेरे दिल मे वैसी वो, की हम भुला ना सके, बस दर्द है, तो इस बात की, कितनी मोहब्बत थी इस दिल मे, हम बता ना सके।

More Posts