जो इंसान जैसा सोचता हैं

जो इंसान जैसा सोचता हैं वैसा बनता है,
इसलिए अपने सोच को कभी छोटा मत रखो।