जिंदगी तस्वीर भी है और तकदीर भी,

जिंदगी तस्वीर भी है और तकदीर भी,
फ़र्क तो सिर्फ रंगों का है,
मनचाहे रंगों से बने तो तस्वीर,
और अनजाने रंगों से बने तो तकदीर ।