इतनी सी बात

itni si baat

 इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना.

दोस्तों भले हि हम जात पात की झूटी शान में डूबे हुए हो ,आज हम एक दुसरे को सबसे बेस्ट शाबित करने के लिए लगे हो ,जात पात की खोखली शान के लिये एक दुसरे से लड़ रहे हो ,मगर हमें एक दुसरे को लड़ाने वाले ,हमारे अपने होकर भी हमारे दुश्मान है ,लेकिन दोस्तों हम जैसे भी है जो भी है हिन्दूस्तानी है ,और एक देश भक्त हिन्दू मुस्लिम नहीं होता ,वो सिर्फ हिन्दुस्तानी होता है।

हम चाहे एक दुसरे से लड़ रहे हो मगर ,हम सब के दिल में तिरंगा बस्ता है ,है ,ये तिरंगा किसी एक का नहीं ,ना हि किसी मुस्लिम का और नहीं किसी हिन्दू का ,ये हिन्दुस्तानियों का और हम सब हिन्दुस्तानी है ,लेकिन आज धीरे धीरे वक्त की धुंध ने हमें धुंधला कर दिया है ,हमारे शेरो, हमारे क्रांतिकारियों हमारे वीरो ने अपना खून देकर तिरंगा दिया है ,उसे हम धीरे धीरे भूलते जस रहे है।

उन सब की कुरबानिया आज सिर्फ ,किस्सों कहानियों कहानियों में रह गये है ,दोस्तों ऐसा मत होने दो ,की जिस के बदौलत आज खुली साँस ले रहे है ,उन्ही की कुर्बानियों को भूल जाये आज हम सिर्फ फार्मेल्टी के लिए हि , नाम के लिये कभी कभी याद करते है ,उसके किसको लगी पड़े है की याद करे मर मर गये यही सोच है ना दोस्तों ,दोस्तों ऐसा सोच मत रखो ,भगवन खुदा को तो हम लोगो ने नहीं देखा ,मगर कहते है जो आपके लिए कुछ करे वही भगवान् होता है ,मगर दोस्तों इन वीरो ने तो हमारे लिए शहीद, अपनी जान की आहुति दी ,यही हमारे लिए सच्ची भगवान् है ,आज हम देश की झूटी राजनीति में फ़सं गये ,अपने मतलब के लिए हमारे वीरो को के नाम से राजनीती करते है ,दोस्तों इस सब से उठ कर देश प्रेम हमें अपने दिल में जगाने होंगे ,किसी को दिखाने के लिये नहीं ,जरूरत पड़े तो ,अपने देश के लिए जान भी दे दे, ऐसा देश प्रेम जगा कर रखे जो किसी के कहने से नहीं होगा ,खुद की दिल में जगाने पड़ेगी .भारत माता की जय ,जय हिन्द .

Trending Shayari

#Love Shayari

आँखों मे ख्वाब दिया करते हैं, हम सबकी नींद चुरा लिया करते हैं, अब से जब-जब आपकी पलकें झुकेंगी, समझ लेना हम अपको याद किया करते हैं।

#Sad Shayari

सदीयो से जागी आँखो को, एक बार सुलाने आ जाओ, माना की तुमको प्यार नहीं, नफरत ही जताने आ जाओ जिस मोड पे हमको छोङ गये, हम बैठे अब तक सोच रहे क्या भुल हुई क्यों जुदा हुए, बस यह समझाने आ जाओ!

#Narazgi Shayari

ऐसी नाराजगी हमसे की हम मना ना सके, बस गयी मेरे दिल मे वैसी वो, की हम भुला ना सके, बस दर्द है, तो इस बात की, कितनी मोहब्बत थी इस दिल मे, हम बता ना सके।

More Posts