इश्क का नाम तो युही बदनाम हैं साहब

इश्क का नाम तो युही बदनाम हैं साहब,
वरना हमारे इश्क मे क्या कमी थी,
की तुम हमसे आंखे चुराती।