इंतजार

आप करीब ही न आये इज़हार क्या करते,
हम खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते,
साँसे साथ छोड़ गयीं पर खुली रखी आँखें,
इस से ज्यादा किसी का इंतज़ार क्या करते।

दोस्तों जब प्यार करते है ना दोस्तों किसी से और वो नहीं करती ,और हमें देख कर दूर भागती है ना दिल में बड़ी दर्द होता है किसी के इन्तेजार में खुद शिकार बन जाते है किसी के प्यार में खुद घायल हो जाते हमने साँस के छोड़ कर भी प्यार करते है …

प्यार करते है की हम उनके प्यार में पूरी दुनिया को भूल जाते मरते दम तक उसे चाहते है ,ना जाने वो नहीं चाहती फिर भी हम चाहते उसके चाहत मर जाते है