Hindi Rajniti Shayari

क़ानून पर क़ानून बनाये जा रहे हैं,
जनता पर सितम ढाये जा रहे हैं,
जनता जिन्हें चुनती अपने भले के लिए
वे पैसे लेकर इनके दल में आये जा रहे हैं।

Ravinder Sudan