शुभ रात्रि हिंदी शायरी

हम अपनों से खफा हो नहीं सकते,
प्यार रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते,
तुम हमें भुला कर भले सो जाओ,
तुम्हे याद किये बिना नहीं सकते..

हेलो दोस्तों जो सच्चा आशिक होते है ना उसे अपना प्यार हि दिखाई देती है वो अपनों से कभी और अपनों के प्यार से कभी खफा नहीं होते है भले हि उसके किस्मत में वो आये या ना आये मगर उसका प्यार अपने दिल में रख हि लेते है ये होता है प्यार ..

हम जिसे चाहते है वो भले हि हमें याद ना करते हो मगर हम जिसे प्यार करते है उसे याद क्र कर के सारी उम्र गुजार देते है दोस्तों …