प्यार की तड़प तू क्या जाने

pyar ki tadap tu kya jane

प्यार की तड़प तू क्या जाने,मेरी मोहब्बत तू क्या पहचाने,कभी नहीं समझेगी मेरे प्यार को,मै ही मर मिटा जाने अनजाने।

ना जाने दिल को कितना

na jane dil ko kitna samjhata hun main

ना जाने दिल को कितना समझाता हूँ मैं,बार-बार इसे यही बतलाता हूँ मैं,तुम नहीं हो हाथों की लकीरों में मेरी,फिर …

More Shayari

एक रात ही देखी अरसे से

ek raat hi dekhi aarse se

एक रात ही देखी अरसे से,उजाले तो जैसे रूठे हैं,अब क्यूँ ये जिद है जीने की,जब सारे सपने टूटे हैं।