छोड़ दे तू मुझे गिला भी नहीं

छोड़ दे तू मुझे गिला भी नहीं,,
मुझमे अब और कुछ बचा भी नहीं,
उसने बस यूँ काहा “चले जाओ”…!!
जल्दबाज़ी में, मैं रुका भी नहीं…!