अपनी दोस्ती

जिन्दगी हर पल कुछ खास नहीं होती,
फूलों की खुशबू हमेशा पास नहीं होती ,
मिलना हमारी तक़दीर में था वरना,
इतनी प्यारी दोस्ती इतेफाक नहीं होती ..

दोस्तों हमारी जिंदगी जितनी अच्छी दिखती है ना उतनी अच्छी नहीं होती चाहे वो किसी का भी हो हर किसी की लाइफ में अलग अलग तरह की परेशानियाँ होती है ,ये आमिर गरीब नहीं देखती ये हहर पल खास नहीं होती ,जैसे कहते है ना की फूलों की खुशबु ,और हर फूल सुगंध में खास और पास नहीं होती वैसे ही जिन्दगी है ,कभी ख़ुशी तो खभी गम आनी ही आनी है ये पता ही है ना…

और इतनी बड़ी जिंदगी में हमें कोई हमें ऐसा साथी मिल जाता है जो हमारी तकलीफों में काम आते है ये मिलना भी संजोग से ही होता है हम किसी से जान कर नहीं मिलते है ,और वो हमारे जिन्दगी में ऐसे समां जाते है की हमारे अपने बन जाते है क्यों दोस्तों ..

Leave a Comment