आँखों की गहराई को समझ नहीं

आँखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
होंटों से कुछ कह नहीं सकते,
कैसे बयां करें हम आपको यह दिल का हाल की,
तुम ही हो जिसके बगैर हम रह नहीं सकते।

Leave a Comment